कारोबार

शुरुआती सत्र में सेंसेक्स 613 अंक टूटकर 55,633 पर; निफ्टी 175 अंक गिरा

रूस और यूक्रेन के बीच बढ़ते तनाव के बीच वैश्विक इक्विटी बाजारों में बिकवाली के बाद बुधवार को शुरुआती सत्र में इक्विटी बेंचमार्क सेंसेक्स 600 अंक से अधिक टूट गया।

इसके अलावा, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल की कीमतों में तेजी और विदेशी पूंजी के बेरोकटोक बहिर्वाह से निवेशकों की धारणा प्रभावित हुई।

शुरुआती कारोबार में बीएसई गेज 613.55 अंक या 1.09 प्रतिशत की गिरावट के साथ 55,633.73 पर कारोबार कर रहा था। इसी तरह निफ्टी 175.30 अंक या 1.04 फीसदी गिरकर 16,618.60 पर बंद हुआ।

सेंसेक्स पैक में आईसीआईसीआई बैंक 3.46 प्रतिशत की गिरावट के साथ शीर्ष स्थान पर रहा, इसके बाद एशियन पेंट्स, मारुति, एचडीएफसी जुड़वाँ, कोटक बैंक और अल्ट्राटेक सीमेंट का स्थान रहा।

दूसरी ओर, टाटा स्टील, महिंद्रा एंड महिंद्रा, रिलायंस इंडस्ट्रीज, पावरग्रिड, एनटीपीसी और टेक महिंद्रा लाभ में रहे।

पिछले सत्र में, 30 शेयरों वाला बीएसई सूचकांक 388.76 अंक या 0.70 प्रतिशत बढ़कर 56,247.28 पर बंद हुआ था। इसी तरह, व्यापक एनएसई निफ्टी 135.50 अंक या 0.81 प्रतिशत उछलकर 16,793.90 पर बंद हुआ।

मंगलवार को महाशिवरात्रि के मौके पर शेयर बाजार बंद रहे।

एशिया में, टोक्यो, हांगकांग, सियोल और शंघाई के शेयर मध्य सत्र सौदों में गहरे नुकसान के साथ कारोबार कर रहे थे।

रात भर के सत्र में अमेरिका में स्टॉक एक्सचेंज तेजी से नीचे बंद हुए।

अंतरराष्ट्रीय तेल बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड 5.73 प्रतिशत बढ़कर 110.98 डॉलर प्रति बैरल हो गया।

अमेरिका और यूरोपीय संघ ने रूस पर कई तरह के प्रतिबंध लगाए हैं। इनमें रूस के सबसे बड़े बैंकों पर प्रतिबंध और इसके वित्तीय संस्थानों को SWIFT वैश्विक भुगतान प्रणाली से बाहर करना शामिल है। हालांकि, उन्होंने इसकी तेल और प्राकृतिक गैस की आपूर्ति जारी रखने की अनुमति दी है।

भारतीय पूंजी बाजारों में, विदेशी संस्थागत निवेशक (एफआईआई) पूंजी बाजार में शुद्ध विक्रेता बने रहे, क्योंकि उन्होंने मूल्य के शेयर बेचे स्टॉक एक्सचेंज के आंकड़ों के मुताबिक सोमवार को 3,948.47 करोड़ रुपये।


Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
en_USEnglish