क्यों मानते है गुरु पूर्णिमा ? गुरु पूर्णिमा 2020 की महत्वपूर्ण तिथियां, समय एवं महत्व

guru purnima 2020
गुरु पूर्णिमा एवं उसका महत्व – फोटो @aajtak

रविवार 5 जुलाई, 2020 को गुरु पूर्णिमा का त्यौहार पूरे देश में मनाया जायेगा। इस साल, भक्तों को सलाह दी जाती है कि वे घर के दरवाजों में रहें और COVID-19 महामारी के कारण धार्मिक स्थलों पर जाने से खुद को रोकें। इस साल, आपको यह त्यौहार घर की चार दीवारों के अंदर मनाने की सलाह दी जाती है।
COVID-19 संकट के मद्देनजर, मथुरा का में होने वाले गुरु पूर्णिमा मेला जो 1 से 5 जुलाई तक आयोजित होने वाला था, उसे भी रद्द कर दिया गया। इस दिन कृष्ण भक्त 21 किमी लम्बी गोवर्धन पर्वत की परिक्रमा करने के लिए दुनिया भर से मथुरा आते हैं।
गुरु पूर्णिमा 2020 – तिथि और समय –

इस वर्ष गुरु पूर्णिमा रविवार, 5 जुलाई, 2020 को मनाई जाएगी। गुरु पूर्णिमा के दिन इस वर्ष चंद्रग्रहण पड़ रहा है।
• पूर्णिमा तिथि शुरू – 04 जुलाई, 2020 को सुबह 11:33 बजे
• पूर्णिमा तिथि समाप्त – 05 जुलाई, 2020 को सुबह 10:13 बजे

गुरु पूर्णिमा का महत्व –

हिंदू पंचांग के अनुसार आषाढ़ मास की पूर्णिमा तिथि पर गुरु पूर्णिमा का त्योहार मनाया जाता है। इस दिन, शिष्य अपने गुरुओं का सम्मान करते हैं। यह ऋषि वेद व्यास की जयंती भी है, जो लेखक होने के साथ-साथ हिंदू महाकाव्य महाभारत में एक पात्र भी हैं। इसको व्यास पूर्णिमा भी कहते हैं। इस दिन को चारों वेदों के रचयिता और महाभारत जैसे महाकाव्य की रचना करने वाले वेद व्यास की जयंती के रूप में मनाया जाता है। अन्य महान गुरुओं में शामिल कुछ और गुरु है – आदि शंकराचार्य, श्री रामानुज आचार्य और श्री माधवाचार्य। ।
बौद्ध धर्म के अनुसार इस दिन गौतम बुद्ध का सम्मान करते हैं। ऐसा कहा जाता है कि गौतम बुद्ध ने अपना पहला उपदेश सारनाथ, उत्तर प्रदेश, भारत में गुरु पूर्णिमा पर दिया था।
विद्यार्थिओं के लिए कुछ SMS / WHATSAPP मैसेज जो वह अपने चहेते गुरुओ को भेज सकते है –

• गुरु भगवन शिव के तीन नेत्र हैं, विष्णु जी की चार भुजाएं हैं और ब्रह्मा भगवन जी के चार सर हैं। वह मानव रूप में स्वयं भगवान शिव हैं। गुरु पूर्णिमा!

• गुरु के चरणों की पूजा करना सभी उपासनाओं में सर्वोच्च है। हैप्पी गुरु पूर्णिमा!

• एक आदमी को सबसे पहले खुद को उस दिशा में ले जाना चाहिए जिस रास्ते पर उसे जाना चाहिए। उसके बाद ही उसे दूसरों को निर्देश देना चाहिए। गुरु पूर्णिमा की हार्दिक बधाइयाँ !

• जो दुनिया के किसी भी आदमी को भ्रम में ना रहने दें। गुरु के बिना कोई पार नहीं पा सकता। गुरु पूर्णिमा की शुभकामनाए !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *