Haryana HBSE 10th Result 2020: 10वीं कक्षा में लड़कियां रही आगे, 64.59 फीसदी बच्चे हुए पास, पूरे 500 अंक पाकर ऋषिता बनी टॉपर

haryana 10th result 2020 declare
ऋषिता पूरे 500 अंक पाकर बनी टॉपर, लड़कियां फिर रही अव्वल – फोटो @educationcareerindia

Haryana HBSE 10th Result 2020: हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ने कोरोना संक्रमण के कारण अधूरी रही परीक्षाओं के बावजूद सुप्रीम कोर्ट के निर्णय अनुसार परिणाम घोषित कर दिया है। हरियाणा 10वीं रिजल्ट 2020 को बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर देखा जा सकता है, रिजल्ट देखने के लिए आप हरयाणा बोर्ड की वेबसाइट bseh.org.in पर जाएं। उसके बाद यहां Haryana HBSE 10th Result 2020 लिंक पर क्लिक करें। अब यहां मांगी गई पूरी जानकारी भरें। रिजल्ट आपकी स्क्रीन पर दिखने लगेगा। रिजल्ट का प्रिंट लेने के बाद की कॉपी को भविष्य के लिए डाउनलोड करके रख लें। छात्र नीचे दिये गये डॉयरेक्ट लिंक के माध्यम से भी अपना हरियाणा एचबीएसई 10वीं रिजल्ट 2020 देख सकते है।

एक क्लिक में देखें हरियाणा एचबीएसई 10वीं रिजल्ट 2020 का परिणाम

हरियाणा बोर्ड द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार इस वर्ष 64.59 फीसदी छात्रों ने सफलता हासिल की है। इसमें से 69.86 प्रतिशत बेटियों ने सफलता हासिल की है और 60.27 प्रतिशत बेटों ने सफलता हासिल की है। वहीं, हरियाणा बोर्ड 10वीं रिजल्ट 2020 में प्रथम स्थान पर हिसार की कु० ऋषिता हैं। जिन्होनें पूरे 500 अंक पाकर इतिहास रच दिया।

rishita haryana results 10th class topper education board school
ऋषिता ने हरियाणा (BSEH) कक्षा 10 की परीक्षा में पुरे 500 अंक हासिल कर इतिहास रचा – फोटो @hindustantimes

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड की सेकेंडरी (नियमित) परीक्षा में 3,37,691 परीक्षार्थियों ने हिस्सा लिया, जिनमें से 2,18,120 उत्तीर्ण हुए एवं 32,501 परीक्षार्थियों की कंपार्टमेंट आई है। वहीं 87,070 परीक्षार्थी अनुत्तीर्ण हुए। 1,85,429 छात्रों में से 1,11,751 पास हुए। 1,52,262 प्रविष्ठ छात्राओं में से 1,06,369 पास हुईं। वहीं बोर्ड अगले सप्ताह 12वीं कक्षा का परिणाम घोषित करने तैयारी कर रहा है।

लगातार सुधर रहा परिणाम – पिछले साल से 7.20 फीसदी अधिक रही है परिणाम

2015 से निरंतर शिक्षा शिक्षा में सुधार किया जा रहा है, पिछले पांच साल से परिणाम में अच्छे रहे है। पिछले वर्ष 57.39 फीसदी बच्चों ने सफलता पाई थी जबकि इस वर्ष 64.59 फीसदी सफल रहे है। यानी 7.20 फीसदी अधिक। हालांकि स्वयंपाठी विद्यार्थियों के परिणाम में थोड़ी गिरावट आई है। पिछले वर्ष 69.80 फीसदी स्वयंपाठी विद्यार्थी पास हुए थे जबकि इस वर्ष 62.38 फीसदी ही पास हो पाए। पास हुए छात्रों को janawaznews.com की तरफ से हार्दिक बधाई और जो छात्र इस वर्ष सफल नहीं हो पाये वो एक बार फिर कड़ी मेहनत करे, क्योंकि मेहनत से ही सफलता हासिल की जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *