फ्रांस से आ रहे हैं राफेल फाइटर जेट भारत के एयरफोर्स को करेगा अब और भी मज़बूत

rafael fighter jets are coming from france which make indian air force more stronger
Spread the love
rafael fighter jets are coming from france which make indian air force more stronger
राफेल लड़ाकू विमान जल्द ही भारत की वायुसेना में शामिल हो जाएंगे – फोटो @khaskhabar.com

दुनिया के सबसे ताकतवर विमानों में से एक राफेल लड़ाकू विमान (Rafale Fighter Jet) जल्द ही भारत की वायुसेना (Air Force) में शामिल हो जाएंगे। जुलाई के अंत तक भारत को 5 राफेल विमान प्राप्त होंगे, फ्रांस के मैरिनाट एयरबेस से रवाना होके ये विमान बुधवार तक भारत के अम्बाला एयरबेस (Ambala Airbase) पर लैंड करेंगे, विमान रिफ्यूलिंग के लिए यूएई में रुकेंगे। बता दे की यह यात्रा 7 हजार किलोमीटर की होगी।

इसे भी पढ़ें – Chandra Shekhar Azad: भारत माता के महान सपूत चंद्रशेखर आजाद जिन्होंने अपना प्राण न्यौछावर कर देश को आज़ादी दिलाई, जानें उनके बारे में खास बातें

पहले प्लेन्स की डिलीवरी मई में होने वाली थी परन्तु कोरोना संकट के चलते इसे 2 महीने के लिए टाल दिया गया था। इन जेट्स के वायुसेना में शामिल हो जाने से भारत की हवा से हवा एवं हवा से ज़मीन की मारक शमता कही गुना बढ़ जाएगी। राफेल जेट को अधिक खास बनाता है इसमें लगने वाले मिसाइल्स।

कौन – कौन से मिसाइल लगाए जाएंगे

स्काल्प मिसाइल (Scalp Missile): स्काल्प की मारक क्षमता 600 किलोमीटर है, यह अपने अचूक निशाने के लिए जाना जाता है।

हैमर मिसाइल(Hammer Missile): जिसकी मारक क्षमता 60 किलोमीटर है स्पेशल आर्डर पे राफेल के लिए ही मंगवाए गए है, बता दे की इनकी ज़रुरत चीन के साथ विवाद के चलते ज़रुरी समझी गई है।

मिटीयोर मिसाइल(Meteor Missile): air to air ये मिसाइल की मारक क्षमता 150 किलोमीटर है, यह मिसाइल बिना सीमा पार करे दुश्मन विमानों को गिरा सकता है।

इसे भी पढ़ें – बच्चों की पढ़ाई के लिए पिता ने बेची गाय, बीजेपी विधायक रमेश धवाला ने 2000 रु देकर निभाया फर्ज

आने वाले जेट्स में से तीन विमान 2 सीटर ट्रेनिंग विमान होंगे। बता दे की पहले राफेल विमान को भारत के 17 गोल्डन एरो (Golden Arrows) के स्क्वॉड्रन कमांडिंग ऑफिसर ही उड़ाएंगे। राफेल की ताकत का अंदाज़ा इस बात से लगाया जा सकता है की इससे टक्कर लेने के लिए पाकिस्तान को 2 F-16 की ज़रुरत पड़ेगी। अगर सुखोई (Sukhoi) विमानों से तुलना करे तो राफेल ज्यादा एडवांस और 1.5 गुना अधिक कार्यक्षमता से लैस है। 2022 तक भारत को सभी 36 राफेल जेट मिल जाएंगे जिसमे से पहले 18 विमान अम्बाला एयरबेस और बाकी 18 विमान पूर्वोत्तर के हाशीमारा में स्थित रहेंगे।

10 Comments on “फ्रांस से आ रहे हैं राफेल फाइटर जेट भारत के एयरफोर्स को करेगा अब और भी मज़बूत”

  1. राफेल की गर्जना से ही पाकिस्तान और चीन में दहशत है

  2. Pingback: International Tiger Day 2020: Their survival is in our hands – बाघों को बचाना है हम सबकी जिम्मेदारी
  3. Pingback: दिल्ली सरकार ने नौकरी पोर्टल लांच कर युवाओं को दिया रोजगार का अवसर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *