World Hepatitis day 2020: हेपेटाइटिस की सही जानकारी से ख़ुद भी बचे और दूसरों को भी बचाएं, जानें इसके लक्षण, कारण और बचाव

हेपेटाइटिस लिवर से जुड़ी एक बीमारी है। अपने खान-पान पर हमें विशेष ध्यान देना चाहिए जिससे हेपेटाइटिस जैसी बीमारी से बचा जा सके।

World hepatitis day 2020 know about this diseases and save yourself and others too
हेपेटाइटिस लिवर से जुड़ी एक बीमारी है। अपने खान-पान पर हमें विशेष ध्यान देना चाहिए

मानव शरीर में यकृत यानी लिवर से जुड़ी एक बीमारी है, जिसे हेपेटाइटिस कहते है। जब किसी भी मरीज के लिवर पर सूजन आ जाती है और वह अपनी क्षमता के अनुरूप कार्य नहीं कर पाता है। तो इस स्थिति को हेपेटाइटिस कहा जाता है। आपको बता दें की हेपेटाइटिस किसी ना किसी तरह के संक्रमण के कारण होता है और घर तथा आस-पास में गंदगी भी इसकी बड़ी वजह हो सकती है। साफ़-सफ़ाई न होने से भिन्न-भिन्न तरह के कीटाणु उत्पन्न होते है जो आपके खाने के साथ पेट के अंदर जाकर लिवर को हानि पहुंचा सकता है। अधिक शराब सेवन करने के कारण भी वायरल संक्रमण हो सकता है।

हेपेटाइटिस के मुख्य दो प्रकार है।

हेपेटाइटिस बीमारी मुख्य रूप से दो प्रकार की होती है। पहला प्रकार है एक्यूट हेपेटाइटिस, यह प्रारंभिक स्थिति का हेपेटाइटिस है जो कम घातक होता है। इसका असर 6 महीने तक रह सकता है। जबकि दूसरा है क्रॉनिक हेपेटाइटिस, यह लम्बे समय तक चलने वाली बीमारी है।

इसे भी पढ़ें – क्या आपको मालूम है ‘किस’ करना सेहत के लिए कितना फायदेमंद है |

हेपेटाइटिस के अन्य प्रकार
मुख्य रूप से हेपेटाइटिस दो प्रकार का होता है लेकिन जब इसको मेडिकल विशेषताओं के आधार पर वर्गीकृत किया जाता है तो यह करीब 7 प्रकार का होता है। इन 7 प्रकारों में हेपेटाइटिस-ए, बी, सी, डी, ई, एल्कोहॉलिक हेपेटाइटिस और ऑटोइम्यून हेपेटाइटिस शामिल हैं।

हेपेटाइटिस के दुर्लभ प्रकार
हेपेटाइटिस के 7 प्रकारों में से हेपेटाइटिस-डी, हेपेटाइटिस-ई और ऑटोइम्यून हेपेटाइटिस में बहुत ही दुर्लभ प्रकार की स्थितियां होती हैं। ये दुर्लभ हेपेटाइटिस बहुत कम लोगों में देखने को मिलता है।

हेपेटाइटिस के लक्षण

हेपेटाइटिस बीमारी के लक्षण हैं जो इस बीमारी के हर प्रकार के रोगी में देखने को मिल सकते हैं। डॉक्टर द्वारा मेडिकल जांच के आधार पर ही इस बात को जाना जा सकता है कि रोगी को किस प्रकार का हेपेटाइटिस है। आइये जानते है इसके सामान्य लक्षण के बारे में.

त्वचा और आँखों में पीलापन होना ।
सिर में दर्द रहना और खुद को अस्वस्थ महसूस करना।
जोड़ों में दर्द होना
हर समय बुखार रहना
थकान महसूस करना
निराशा और तनाव से ग्रसित रहना

इसे भी पढ़ें – COVID-19: जानिए N95 फेस मास्क के बारे में क्या कहता है स्वास्थ्य मंत्रालय

हेपेटाइटिस के लिए कौन-कौन से वायरस हैं जिम्मेदार
हेपेटाइटिस का संक्रमण चाहे किसी भी कारण हुआ हो, आमतौर पर ये वायरस इस बीमारी के लिए मुख्य रूप से जिम्मेदार होते हैं.

पिकोरना वायरस
हैप्नाविरीडे वायरस
हैपविरीडे वायरस
एनाप्लाजमा
नोकार्डिया

हेपेटाइटिस का उपचार

हेपेटाइटिस का इलाज संभव है और मरीज ठीक होकर पुनः अपना जीवन पहले की तरह जी सकता है। यदि आपको ऊपर बताए गए लक्षणों के आधार पर इस बीमारी के होने की आशंका है तो तुरंत अपना चेकअप किसी हेपेटाइटिस स्पेशलिस्ट डॉक्टर से कराएं। इस बीमारी में मरीज के हाइजीन का पूरा ध्यान रखें साथ ही स्वयं भी सतर्कता बरतें। मरीज के किसी भी सामान का खुद इस्तेमाल न करें और आस-पास सफ़ाई का विशेष ध्यान रखें।

4 thoughts on “World Hepatitis day 2020: हेपेटाइटिस की सही जानकारी से ख़ुद भी बचे और दूसरों को भी बचाएं, जानें इसके लक्षण, कारण और बचाव

  1. हेपिटाइटिस-बी खतरनाक लीवर की बीमारी है इसके लिए जनावाज ने अच्छी जानकारी दी है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *