Hartalika Teej 2020: आज है हरतालिका तीज – जानिए शुभ महूर्त, पूजा विधि, महत्ता और मनाने का कारण

अपने सुहाग की लम्बी उम्र के लिए रखें जाने वाले ‘हरतालिका तीज’ (Hartalika Teej 2020) को इस साल 21 अगस्त 2020, शुक्रवार को मनाया जाएगा । हर साल भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को ‘हरतालिका तीज’ पूरे भारत वर्ष में मनाई जाती है।

पूजा करने का शुभ मुहूर्त 

हरितालिका तीज की पूजा का शुभ मुहूर्त – सुबह 5.54 मिनट – सुबह 8.30 मिनट तक।

शाम की पूजा का शुभ पूजा मुहूर्त – शाम 6.54 मिनट -रात 9.06 मिनट तक।

कैसे हुई शुरुआत –

हिन्दू मान्यता के अनुसार इस व्रत को सबसे पहले माँ पार्वती ने भगवान शंकर को पति के रूप में पाने के लिए किया था, जैसा की ‘हरतालिका’ शब्द का संधि विच्छेद करने से ही ज्ञात हो जाता है, जहा ‘हरत’ का मतलब ‘अपहरण’ और आलिका का मतलब ‘महिला मित्र’ है। हिंदू पौराणिक कथाओं के अनुसार, माँ पार्वती ने अपनी महिला मित्र से अनुरोध किया कि वे उनका हरण कर ले ताकि उनके पिता हिमालय उनकी शादी भगवान विष्णु से ना कर पाए जिसका वो वादा कर बैठे थे। इसके बाद माँ पार्वती ने भगवान शिव को पति  रूप में पाने के लिए गंगा नदी के किनारे रेत का शिवलिंग बना घने जंगल में कड़ी तपस्या की। माँ पार्वती की कई सालों की कड़ी तपस्या को देख, भगवान् शिव खुश हुए और दिव्य रूप में उनके सामने प्रकट होकर, माँ पार्वती से विवाह करने के लिए सहमत हुए।

inside article image
Goddess Parvati prayed hard to get Lord Shiva as her Husband, photo@hindi news18

भक्तों का मानना है कि यह हरतालिका तीज के ही दिन भगवान् शिव ने 108 जन्मों के बाद माँ पार्वती को अपनी पत्नी के रूप में स्वीकार किया था। इसी दिन के बाद से हिन्दुओ में महिलाओ के लिए ये एक मत्वपूर्ण व्रत माना जाता है ।

पूजा विधि –

pooja vidhi article image
How to do pooja in Hartalika Teej, photo@india tv

इस दिन भगवान् शिव और माँ पार्वती की पूजा की जाती है, हिन्दू मान्यता के अनुसार भाद्रपद की शुक्ल तृतीया के  हस्त नक्षत्र में भगवान शिव और माँ पार्वती के पूजन का विशेष महत्व है । इस दिन व्रत करने वाली विवाहित महिलाए एवं कुवारी लड़किया बिना कुछ खाए पिए पूरे दिन एवं रात में जागकर जागरण कर व्रत रखती है और अपने घर और मंदिर जाकर भगवान् शिव और माँ पार्वती को फल, फूल, मिठाई, दूध, प्रसाद, वेलपत्र,चुनरी, बिंदी आदि चढ़ा विधिवत कथा पढ़ सच्चे मन और श्रद्धा से पूजा करती है ।

क्या है इसकी महत्ता –

हरतालिका तीज का व्रत बहुत ही कठिन होता है और मान्यता के अनुसार जो महिलाये हरतालिका तीज का व्रत रखती है उनके पति की उम्र लंबी होती है, वही कुंवारी लड़कियों द्वारा व्रत करने पर उनको मनवांछित वर मिलता है।

हम अपनी जन आवाज़ न्यूज़ की टीम की तरफ से सभी को हरतालिका तीज की शुभकामनाएं देते है ।

One thought on “Hartalika Teej 2020: आज है हरतालिका तीज – जानिए शुभ महूर्त, पूजा विधि, महत्ता और मनाने का कारण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *