861.90 करोड़ रुपये में बनेगी भारत की नयी संसद, टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड ने जीता टेंडर

New Parliament Building Construction – भारत के नए संसद परिसर का निर्माण करेगी टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड, टेक्निकल बिड में सफल लार्सन एंड टुब्रो लिमिटेड और टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड के बीच खोली गयी वित्तीय बोली में टाटा प्रोजेक्ट्स की बिड सबसे कम रही।

New Parliament Building
Prescribed Sketch of location for New Parliament Building, photo@ the quint

Also Read – Live Match Updates of Eng Vs Australia 3rd ODI

New Parliament Building Tender Details –

CPWD द्वारा जारी किए गए टेंडर की अनुमानित लागत 889 करोड़ रुपये थी, सरकार द्वारा नए संसद निर्माण कार्य के लिए 7 कम्पनीज ने निविदा में भागीदारी की जिसमे आईटीडी सीमेंटेशन इंडिया लिमिटेड, लार्सन एंड टुब्रो लिमिटेड, टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड, एनसीसी लिमिटेड, पीएसपी प्रोजेक्ट्स लिमिटेड, यूपी राजकीय निर्माण निगम लिमिटेड को केंद्रीय लोक निर्माण विभाग और शापूरजी एंड पल्लोनजी कंपनी प्राइवेट लिमिटेड थी।

CPWD द्वारा आईटीडी सीमेंटेशन इंडिया लिमिटेड, एनसीसी लिमिटेड, पीएसपी प्रोजेक्ट्स लिमिटेड और यूपी राजकीय निर्माण निगम लिमिटेड को केंद्रीय लोक निर्माण विभाग ने तकनीकी निविदा में अयोग्य घोषित कर दिया जिसका मुख्य कारण CPWD ने बोली दस्तावेज में उल्लिखित मानदंडों की पूर्ति न करना बताया और सिर्फ मुंबई की तीन कंस्ट्रक्शन कंपनियों – लार्सन एंड टुब्रो लिमिटेड, टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड और शापूरजी पल्लोनजी एंड कंपनी प्राइवेट लिमिटेड को नए संसद परिसर के निर्माण के लिए चुना जिसमे में सिर्फ लार्सन एंड टुब्रो लिमिटेड और टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड ने वित्त बोलिया प्रस्तुत की थी।

New Parliament Building Design Features –

नए संसद परिसर में कुल 900 लोकसभा सांसद और 1350 सदस्य की क्षमता होगी। सेंट्रल विस्टा के रीडिजाइन के आर्किटेक्ट प्रभारी बिमल पटेल के अनुसार, नया कॉम्प्लेक्स त्रिकोणीय आकार का होगा और टॉप पर अशोक एंब्लेम रहेगा। यह मौजूदा कॉम्प्लेक्स के बगल में बनाया जाएगा और पूर्व की तुलना में बहुत बड़ा होगा। सचिवालय भवन के उत्तर और दक्षिण ब्लॉक, जो वर्तमान में गृह मंत्रालय हैं, को संग्रहालयों में बदल दिया जाएगा। प्रधान मंत्री कार्यालय और अन्य मंत्रालयों का स्थानांतरण राजपथ के एक नए स्वरूप के साथ किया जाएगा।

Also read – Details about Parliament of India

New Parliament Building – on what basis tender was awarded

निविदा प्राप्ति के बाद टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड के एक प्रवक्ता ने पुष्टि इसकी की और कहा इस कार्य की लगत 861.90 करोड़ रुपये रही वही दूसरे नंबर पर रही लार्सन एंड टुब्रो लिमिटेड ने 865 करोड़ रुपये की बोली लगाई थी ।

आधिकारिक तौर पर सबसे कम बोली लगाने वाले को ठेका दिया जाता है और एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी के अनुसार कुछ दिनों के भीतर ही टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड पुरस्कार का पत्र जारी कर दिया जाएगा।

0 thoughts on “861.90 करोड़ रुपये में बनेगी भारत की नयी संसद, टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड ने जीता टेंडर

  1. खाली नया बिल्डिंग बनाने से क्या होगा? अच्छा तो ये होता कि नए buliding के साथ नया राजधानी भी बनाया जाए।दिल्ली अब बहुत क्लटर हो गया है, समय आ गया है की राजधानी वापस पटना जैसे शहरों में शिफ्ट किया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *