Precautions against Pollution: खतरनाक दिल्ली प्रदूषण से बचने के 11 उपाय

दिल्ली वायु प्रदूषण से लिप्त हैं इस वजह से लोग वहां रहना नहीं चाहते है। इस आर्टिकल में हम आपको प्रदूषण से बचने (Precautions against Pollution) के 11 उपाय बताएँगे, जो आपको दिल्ली जैसे शहर में ज़िंदा रहने के लिए है ज़रूरी।

Precautions against Pollution

विषाक्त हवा के कारण ही लोग दिल्ली से पलायन कर रहे है। आलम ये है की सुबह का समय स्मोकी फोग जैसा होता है जिससे सूरज की रोशनी तक ज़मीन पर नहीं आ पाती, चारों तरफ सिर्फ फोग ही फोग दिखाई देता है। स्मोकी फोग की वजह से एक्सीडेंट का ख़तरा भी बना रहता है। पिछले पांच सालों में न जाने कितने एक्सीडेंट हुए और लोगों को अपनी जान गवानी पड़ी। जिस तरह से दिल्ली में प्रदूषण बढ़ रहा है आने वाल समय में यहाँ रहना दुर्लभ होगा। साँस के मरीजों के लिए तो दिल्ली में रहना दुर्लभ ही है। विषाक्त हवा के कारण किसी को भी खांसी हो जाती है, जिससे गले में जलन होती है और यहां तक कि वायरल संक्रमण भी फैलता है। अस्थमा और हृदय संबंधी समस्याओं से पीड़ित लोगों के लिए स्थिति बदतर है। ऐसी स्थिति में खुद को और अपने परिवार को बचाने के लिए नियमों का पालन करें।

Take following 11 steps of Precautions against Pollution :-
  1. सुबह की सैर से करें परहेज

व्यायाम आवश्यक है लेकिन तब नहीं जब हम जहरीली हवा से सांस ले रहे हों। जो लोग टहलने, दौड़ने या किसी भी बाहरी गतिविधि में संलग्न होते हैं, उन्हें ऐसा करने से बचना चाहिए। जब तक स्मॉग पूरी तरह से ख़त्म न हो जाए बाहर के कार्य से बचें। इन गतिविधियों को शाम के घंटों में स्थानांतरित करें। क्योंकि ऐसे समय में अगर आप बाहर निकलते है तो विषाक्त हवा साँस के माध्यम से आपने अंदर चली जाएगी और आप बीमार पड़ सकते है। तरह-तरह की वस्तुएं जलाने से निकलने वाला धुआं न जाने कौन सी और कैसी बीमारी लेकर आए जिससे आप बहूत बीमार भी पड़ सकते है और आपकी जान भी जा सकती है। इसलिए प्रदूषित जगह पर बाहर जाने से बचें। सही समय का आकलन कर ही घर से निकले।

2. आउटडोर कार्यों के लिए फेस मास्क का प्रयोग करें

जब भी आप घर से निकले अच्छी गुणवत्ता वाले फेस मास्क लगाएं। फेस मास्क प्रदूषित हवा से बचाता है। प्रदूषित जगह में फेस मास्क एक रामबाण की तरह है। जो आपको विषाक्त हवा से बचाता है। आज कल बाजार में अच्छे मास्क उपलब्ध है उनकी गुणवत्ता को जांच कर अच्छे मास्क ख़रीदे और उसको पहनना अपनी दिनचर्या बनाएं।

3. घर में वायु शुद्ध करने वाले पौधे लगाएं

दिल्ली जैसे शहर में रहने पर आपका घर भी प्रदूषण से अछूता नहीं रह सकता है। बाहरी प्रदूषण से घर भी प्रदूषित रहता है। ऐसे में आपने घरों में इनडोर पौधें लगाएं। ये पौधें आपको इनडोर और प्रदूषण से बचांएगे। एलोवेरा, आइवी और स्पाइडर प्लांट जैसे एयर प्यूरीफाइंग प्लांट्स को घर और कार्यालयों में रखा जा सकता है। वे इनडोर वायु को शुद्ध करने और इनडोर प्रदूषण को कम करने में मदद करते हैं

4. अपनी रसोई, बाथरूम को वेंटिलेट करें

इनडोर वायु प्रदूषण से बचने के लिए, सुनिश्चित करें कि रसोई में चिमनी हो और बाथरूम में निकास हो। यह सुनिश्चित करेगा कि हवा को पुन: प्रसारित किया जाए। बहुत से लोग नहीं जानते कि इनडोर प्रदूषण बाहरी प्रदूषण से भी बदतर हो सकता है। इसलिए घर में वंटिलेशन का ध्यान अवश्य रखें।

5. बच्चों के लिए बाहरी गतिविधियों को प्रतिबंधित करें

अपने बच्चों (8 साल से कम उम्र) को आउटडोर न होने दें। यदि संभव हो, तो स्कूल अधिकारियों से बाहरी गतिविधियों को निलंबित करने का अनुरोध करें। विषाक्त हवा से बच्चों की सेहत पर बुरा असर पड़ता है। इसलिए ऐसे समय में बच्चों का विशेष ध्यान रखें। हम सभी को मालूम है की बच्चों के खेलने के लिए एक स्वस्थ वातावरण होना चाहिए लेकिन जब बाहर का वातावरण ठीक न हो तब ऐसे समय में बच्चों को घर में रखना ही समझदारी है। विषाक्त हवा बच्चों के स्वस्थ को ख़राब कर सकती है और वो बहूत बीमार पड़ सकते है। जिससे उनका शारीरिक विकास प्रभावित हो सकता है।

6. एयर-प्यूरीफायर का इस्तेमाल करें

विशेष रूप से बच्चों के कमरे और बुजुर्गों के कमरे (और यहां तक कि गर्भवती महिलाओं) में एयर प्यूरिफायर का उपयोग करें। वे इस जहरीली हवा के दुष्प्रभाव से सबसे ज्यादा ग्रस्त होते है. एयर-प्यूरीफायर बाहर की हवा को फ़िल्टर करता है और अंदर की तरफ शुद्ध हवा देता है। जिससे प्रदूषित हवा घर के अंदर नहीं पहुंच पाती। बच्चों और बुजुर्गों के लिए दिल्ली जैसे प्रदूषित शहर में एयर-प्यूरीफायर बहूत आवश्यक है।

7. रोजाना भाप लें

अपने वायु-मार्ग को आराम देने और आपके शरीर को हानिकारक कण पदार्थों को हटाने में मदद करने के लिए हर दिन शाम को नीलगिरी के तेल की कुछ बूंदों के साथ भाप लेने की कोशिश करें। भाप लेने से श्वसन नली में मौजूद विषाक्त गैस को हटाया जा सकता है और आप बीमारी से बच सकतें है।

8. कार की हवा शुद्ध रखें

जब आप सुबह अपनी कार स्टार्ट करते हैं, तो अपनी खिड़की को नीचे रोल करें ताकि हवा प्रसारित हो सके। इसके बाद, कार एसी को इनडोर सर्कुलेशन मोड में चलाएं, जिससे पीएम 2.5 का स्तर काफी कम हो जाएगा। ऐसा करने से कार में बनी मौजूदा गैस से आप बच सकतें है। अपनी गाड़ी में भी आप इनडोर पौधें लगा सकते है। वो भी गाड़ी के अंदर के प्रदूषण से आपको बचा सकता है।

9. गुड़ का सेवन करें

अपने फेफड़ों से प्रदूषकों को बाहर निकालने के लिए गुड़ (उर्फ गुड़) खाएं। आप प्रतिदिन गुड़ का सेवन करें या इसे अपनी दैनिक तैयारियों में चीनी के साथ बदल सकते हैं। गुड़ खाना पचाने के लिए भी बहूत लाभकारी सिद्ध होता है। इसके सेवन से आप न सिर्फ विषाक्त हवा से बच सकतें है अपितु आपके पेट का डाईजेस्टिव सिस्टम भी मजबूत रहता है।

10. विटामिन सी, ओमेगा फैटी एसिड से भरपूर आहार का सेवन करें

विटामिन सी, मैग्नीशियम से भरपूर फलों और ओमेगा फैटी एसिड से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन करें। एक स्वस्थ आहार आपकी प्रतिरक्षा को बनाए रखते हुए प्रदूषण के दुष्प्रभावों को हरा सकता है।

11. औषधिक चाय

हर्बल अदरक और तुलसी की चाय लें। प्रदूषण के प्रभावों को कम करने के लिए दिन में एक या दो बार इस स्वस्थ मनगढ़ंत स्थिति का होना बहुत ही अच्छा है स्वस्थ के लिए।

ये थे हमारी हमारी तरफ से 11 प्रदूषण से बचने (Precautions against Pollution) के उपाय, आप इनमे से कौन – कौन से अपना रहे है हमे ज़रूर बताये और ये भी बताये की आप के हिसाब से इस लिस्ट में और क्या क्या हम जोड़ सकते है ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगो तक ये बात पहुंचे की इस प्रदुषण की बढ़ती समस्या की खिलाफ कैसे लड़ सकते है और खुद को कैसे बचा सकते है।

Also Read : 5 ways to earn money online

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *